मोदी है तो मुमकिन है: आप मत लेना दिवाली में चाइनीज लाइट, भले सरकार चीन से करती रहे रिकार्ड आयात ( आंकड़ों पर बात)-Hindi News

मोदी है तो मुमकिन है: आप मत लेना दिवाली में चाइनीज लाइट, भले सरकार चीन से करती रहे रिकार्ड आयात ( आंकड़ों पर बात)-Hindi News

Hindi News – देश में मोदी सरकार के आने के बाद से भारत-पाकिस्तान और भारत-चीन के रिश्ते को लेकर समय-समय पर विवाद चिढ़ता रहा है. आपके पास भी तो दिवाली में चाइनीस लाइट नहीं खरीदने के मैसेज तो व्हाट्सएप पर आए होंगे. लेकिन आज हम आपको जो बताना जा रहे हैं यह सुनकर आपको भी धक्का लग सकता है. यह तो सबको पता है कि भारत और चीन के बीच गहरा व्यापारिक संबंध है. इसके बाद भी देश के लोगों को चुनाव के समय देश के लोगों को बरगलाने की कोशिश की जाती है. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि चीन से आयात कभी कम हुआ ही नहीं बल्कि साल दर साल बढ़ता ही गया है. आंकड़ों के अनुसार 2018 19 देश में कुल आयात का 13.6% हिस्सा चीन का था. इसके बाद 2019-20 में या आंकड़ा बढ़कर 13.73% हो गया. अब शायद आपको भी झटका लग सकता है कि 2020-21 में यहां पड़ा सर्वाधिक 16.92% पहुंच गया. मतलब साफ है देश की सरकार चीनी सामानों का विरोध से दिवाली और चुनाव के समय करना चाहती है जिससे उनके वोट बैंक में विस्तार हो सके.

चीन की ग्रोथ रेट बढ़ाने में भारत का बड़ा योगदान

2022 की आखिरी तिमाही जनवरी-मार्च में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 1.6% दर्ज की गई. वही चीन की ग्रोथ रेट 18.3% दर्ज की गई. बता दें कि भारत की तुलना में चीन का ग्रोथ रेट 10 गुना के लगभग था. अब आपको यह भी बता दें कि चीन के ग्रोथ रेट बढ़ने के पीछे का कारण भारत ही रहा है. इसके पीछे का कारण है भारत सरकार कितना बड़े दिखावा क्यों नहीं करती रहे भारत में आयात होने वाले सामग्री में चीन का योगदान प्रतिशत लगातार बढ़ता जा रहा है. यही कारण है कि चीन के बढ़ते ग्रोथ रेट के पीछे भारत का भी योगदान है.

इसे भी पढ़ें‘ममता बनर्जी’ कर रही हैं 13 जून को समाजवाद के साथ विवाह, साम्यवाद और लेनिनवाद भी रहेंगे मौजूद

उपरोक्त लिखे आंकड़ों को पढ़ने के बाद आपके मन में भी यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि अंतिम तरीका भी में तो भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी. इसके साथ ही भारत सरकार ने चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन भी कर दिया था फिर भी ये कैसे संभव है. बता दें कि भारत और चीन के बीच के व्यापारिक संबंध ऐसे हैं कि भारत चीन को बहुत कम सामग्रियों का निर्यात करता है. वहीं चीन से भारत कई चीजें आती हैं जिसे भारत सरकार आने से नहीं रोक सकती. आंकड़ों पर बात करने के बाद यह स्पष्ट है कि भारत के बाजार में चीनी सामग्रियों का आयात लगातार बढ़ा है. आप भी इस विषय में ज्यादा ना सोचे और बस इतना ही सोचकर अपनी बुद्धि को विराम दें की मोदी है तो मुमकिन है.

इसे भी पढ़ें-पत्नी को साथ में बिठा कर पी रहा था शराब, फिर अचानक रेत डाली गर्दन…
-Hindi News Content By Googled

Sujeet Maurya

Sujeet Maurya

Send him your best wishes by leaving something on his wall.

Emergency Call

Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Sant Kabir Nagar 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097