वर्क फ्रॉम हॉम से बोर हो गये है तो करिए वर्क फॉम हॉटल-Hindi News

वर्क फ्रॉम हॉम से बोर हो गये है तो करिए वर्क फॉम हॉटल-Hindi News

Hindi News – कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोगों ने वर्क फ्रॉम हॉम का रास्ता अपनाया था। लेकिन अब लोगों को घर से काम करते हुए बहुत समय हो गया है इससे लोग मानसिक तनाव का शिकार हो रहे है। लोग घर से कहीं बाहर जाना चाहते है। कुछ लोग ऐसा कर भी रहे है। भारत में फिलहाल कुछ राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है। हालंकि 1जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरु होने जा रही है। ऐसे में लोग वर्क फ्रॉम हॉम की जगह वर्क फ्रॉम हॉटल का रूख अपना रहे है।

इसे भी पढ़ें World No Tobacco Day 2021: ये टिप्स अपनाकर परिवार वालों और दोस्तों को स्मोकिंग करने से रोकें..

टूरिज्म इंडस्ट्री पर भी कोरोना की मार

कोरोना के कारण सभी कारोबार प्रभावित हुए हैं। ऐसा कोई नहीं है जिस पर कोरोना ने प्रभाव ना डाला हो। इसमें टूरिज्म इंडस्ट्री बुरी तरह से प्रभावित हुई है। पिछले साल भी कोरोना के कारण टूरिज्म के लिए लोग नहीं आए और इस साल भी कोरोना के कारण पर्यटन के लिए लोग बाहर नहीं निकल रहे हैं। पिछले डेढ़ साल से लोग घर पर ही बैठे है कोरोना ने लोगों के राजगार छीन लिए है। इससे लोगों के पास इतनी आमदनी नहीं है कि लोग कहीं बाहर घूमने जा सकें।  जिससे टूरिज्म इंडस्ट्री से जुड़े स्थानीय लोगों की आमदनी पर असर पड़ा है। लेकिन घर पर रहकर बोर होते लोगों ने पर्यटन स्थलों का रुख करना शुरू कर दिया है।

क्या है वर्क फ्रॉम हॉटल

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद ऑफिस जाने के बजाय लोग घरों में कैद होकर ऑफिस का काम कर रहे हैं। घर में रहते-रहते लोग बोर हो चुके हैं। लोग यह चाहते है कि घर से निकलकर कोविड-19 से बचते हुए कहीं बाहर काम करें। जिसका हल लोगों ने कोविड के नियम का पालन करते हुए वर्क फ्रॉम होटल के रूप में निकाला है। घर की चारदिवारी से बोर होकर कहीं बाहर जाकर काम करना एक अच्छा उपाय है। अब लोग ये चाहते है कि कोरोना खत्मा हो जाएं और लोग ऑफिस का फिर रूख कर पाएं। लोग बहुत तेजी से मानसिक तनाव के शिकार हो रहे है।

वर्क फ्रॉम होटल करने के लिए लोग पहाड़ों का रुख कर रहे हैं। मनाली में एक होटल के मालिक सचिन गुप्ता ने बताया कि मल्टी नेशनल कंपनी में काम करने वाले बहुत से लोग होटल में आ कर रह रहे हैं और यहीं से अपना काम कर रहे हैं। लोगों के यह मानना है कि काम करने के लिए पहाड़ों से अच्छी जगह कोई हो ही नहीं सकती है। प्रकृति के बीच बैठ काम करमा एक अलग ही सुखद अनुभव है।

टूरिस्ट कर रहे पहाड़ी इलाकों का रुख

सचिन की मानें तो वर्क फ्रॉम होटल के लिए ज्यादातर लोग दिल्ली, गुरुग्राम, चंडीगढ़ से पहाड़ों का रुख कर रहे हैं। जिससे थोड़ी ही सही पर होटलों की भी कमाई हो रही है। ये सभी होटल कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए बेहतर इंटरनेट सुविधा के साथ वर्क फ्रॉम होटल की सुविधा दे रहे हैं।पहाड़ी इलाके जैसे उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में कोरोना संक्रमण के कारण जाना मना है। जैसे ही कोरोना के मामलें में गिरावट आती है सरकार नई गाइडलाइन ज़ारी कर जाने की भी अनुमति दे देगी।
-Hindi News Content By Googled

Sujeet Maurya

Sujeet Maurya

Send him your best wishes by leaving something on his wall.

Emergency Call

Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Sant Kabir Nagar 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097