सभी प्रदेशों में संक्रमण तेज-Hindi News

Hindi News – नई दिल्ली। कोविड संक्रमण में उछाल लगातार जारी है। शनिवार सुबह पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 62,258 नए मामले आए। शनिवार को भी नया रिकार्ड बनता हुआ है। शनिवार शाम को अकेले महाराष्ट्र में 35, 726 नए केसेज थे। वायरस से शुक्रवार को 291 लोगों की मौत हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की […]

सभी प्रदेशों में संक्रमण तेज-Hindi News

Hindi News – नई दिल्ली। कोविड संक्रमण में उछाल लगातार जारी है। शनिवार सुबह पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 62,258 नए मामले आए। शनिवार को भी नया रिकार्ड बनता हुआ है। शनिवार शाम को अकेले महाराष्ट्र में 35, 726 नए केसेज थे। वायरस से शुक्रवार को 291 लोगों की मौत हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 62,258 नये मामले सामने आये हैं जिससे संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 19 लाख 08 हजार 910 हो गयी है। सक्रिय मामले 4,52,647 हो गये हैं। इसी अवधि में 291 और मरीजों की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 1,61,240 हो गयी है।

देश में रिकवरी दर आंशिक घटकर 94.85 फीसदी और सक्रिय मामलों की दर बढ़कर 3.80 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्युदर 1.35 फीसदी है। महाराष्ट्र कोरोना के सक्रिय मामलों में शीर्ष पर है और राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान सक्रिय मामले 19,771 की रफ्तार से बढ़ने से इनकी संख्या बढ़कर 2,83,772 हो गयी है।  केरल में पिछले 24 घंटों के दौरान सक्रिय मामले 106 घटकर 24584 रह गये।  दिल्ली में सक्रिय मामले 554 बढ़कर 6051 हो गये हैं।छत्तीसगढ़ में 1989 और सक्रिय मामले बढ़कर 15,307 पहुंच गये हैं। कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामले 1,346 और बढ़कर 19,572 हो गये हैं। राज्य में मृतकों का आंकड़ा 12,484 हो गई है।  पंजाब में सक्रिय मामले 1247 से बढ़कर 22,652 हो गये हैं। उधर तमिलनाडु में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 11,318 हो गयी है।

मध्य प्रदेश में 1034 सक्रिय मामले बढ़कर 12,038 हो गये हैं। गुजरात में सक्रिय मामले 762 और बढ़कर 10,134 हैं।  आंध्र प्रदेश में सक्रिय मामले 4145 पहुंच गये हैं। राज्य में कोरोना को मात देने वालों की तादाद 8,85,515 पहुंच गये हैं जबकि 7,203 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में सक्रिय मामले 775 और बढ़कर 5,824 हो गये हैं। वहीं इस महामारी से 8,779 लोगों की मौत हो चुकी है तथा अब तक 5,96,698 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

महाराष्ट्र में नई पाबंदियां

बई।  महाराष्ट्र सरकार ने राजनीतिक और धार्मिक सहित सभी प्रकार की सभाओं के आयोजन पर पूर्ण प्रतिबंध की घोषणा की है। रेस्तरां, उद्यान और मॉल रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे। आदेश में यह भी कहा गया है कि लोगों को रात 8 बजे से सुबह 7 बजे के दौरान समुद्र तटों पर जाने की अनुमति नहीं होगी, ड्रामा थिएटर भी शनिवार रात से बंद रहेंगे।आदेश में कहा गया है, ‘‘रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक पांच से अधिक लोगों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। यह आदेश 27 मार्च की मध्यरात्रि से लागू होगा। उल्लंघन करने पर प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बगीचों और समुद्र तटों सहित सभी सार्वजनिक स्थानों को इसी अवधि के दौरान बंद रखा जाएगा और उल्लंघनकर्ताओं पर प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। मास्क न पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना लगेगा जबकि सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।’’इसमें कहा गया है कि राज्य में सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और धार्मिक समारोहों के आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया जा रहा है।

दिल्ली में लॉकडाउन नहीं: जैन

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली में फिर से लॉकडाउन लगाने की संभावना से शनिवार को इनकार कर दिया और कहा कि यह कोरोना वायरस को फैलने से रोकने का समाधान नहीं है।जैन ने कहा कि पहले लॉकडाउन लागू करने का एक कारण था, क्योंकि किसी को इस वायरस के बारे में अधिक जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा, ‘‘किसी व्यक्ति को संक्रमित होने और उससे उबरने में 14 दिन का समय लगता है। विशेषज्ञों ने कहा कि यदि 21 दिन का लॉकडाउन लगाया गया, तो वायरस खत्म हो जाएगा।’’जैन ने कहा, ‘‘प्राधिकारी लॉकडाउन की अवधि बढ़ाते रहे, लेकिन वायरस समाप्त नहीं हुआ। मुझे नहीं लगता कि लॉकडाउन कोई समाधान है।’’उन्होंने कहा कि शहर में एक और लॉकडाउन लगाने की ‘‘कोई संभावना’’ नहीं है।

जैन ने कहा कि होली समारोह के लिए जारी दिशानिर्देश का उल्लंघन करते पाये गए व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने मंगलवार को आदेश दिया था कि आगामी त्योहारों जैसे होली और नवरात्रि के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में कोई सार्वजनिक उत्सव नहीं होगा। दिल्ली में प्रतिदिन करीब 90,000 जांच की जा रही है, जो कि राष्ट्रीय औसत का पांच गुना है। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वालों की जांच करने के लिए रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर बिना क्रम के जांच की जा रही है।
-Hindi News Content By Googled