10 लाख से ज्यादा एक्टिव केस-Hindi News

10 लाख से ज्यादा एक्टिव केस-Hindi News

Hindi News – नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर धीरे धीरे पहली लहर के पीक तक पहुंच गई है। हर दिन आने वाले नए संक्रमितों की संख्या के मामले में तो पहली लहर के पीक के मुकाबले डेढ़ गुना केस रोजाना आ रहे हैं। इसके साथ ही एक्टिव केसेज की संख्या भी 10 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। शुक्रवार को देश में एक्टिव केसेज की संख्या 10 लाख 30 हजार से ज्यादा हो गई। शुक्रवार को देर रात तक देश में एक लाख 31 हजार 146 नए केसेज आए थे और एक्टिव केसेज की संख्या 10 लाख 30 हजार 634 हो गई थी। देर रात तक छत्तीसगढ़, असम, झारखंड सहित कुछ राज्यों के आंकड़े अपडेट नहीं हुए थे।

छत्तीसगढ़ में रोज 10 हजार केस आ रहे हैं। इस लिहाज से इन राज्यों के आंकड़े आने के बाद एक दिन के संक्रमितों की संख्या एक लाख 40 हजार से ज्यादा हो जाएगी, जो एक नया रिकार्ड होगा। शुक्रवार देर रात तक देश भर में 662 लोगों की मौत हुई थी।

कोरोना वायरस से सर्वाधिक संक्रमित राज्य महाराष्ट्र में शुक्रवार को 24 घंटे में कोरोना वायरस के 58,993 नए केसेज आए हैं, जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 32 लाख 88 हजार 540 हो गई। शुक्रवार को महाराष्ट्र में 301 लोगों की मौत हुई। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को रिकार्ड संख्या में 8,521 नए केस मिले। शुक्रवार को 5,032 लोग इलाज से ठीक हुए और 39 लोगों की मौत हुई। गुजरात में 4,541 नए केसेज मिले और 42 लोगों की मौत हुई।

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को 24 घंटे में साढ़े नौ हजार से ज्यादा मरीज मिले। राज्य में 9,587 नए मामले आए और सिर्फ 583 लोग इलाज से ठीक हुए। यानी एक दिन में राज्य में नौ हजार एक्टिव केस बढ़ गए। राज्य में 36 लोगों की मौत हुई। केरल में एक बार फिर मरीजों की संख्या पांच हजार से ऊपर पहुंच गई। राज्य में शुक्रवार को 5,063 नए केस मिले, जबकि 2,475 लोग इलाज से ठीक हुए। पंजाब में 24 घंटे में 3,404 नए केस मिले और 56 लोगों की मौत हुई।

चुनाव वाले राज्य पश्चिम बंगाल में 24 घंटे में मिले मरीजों की संख्या तीन हजार से ऊपर पहुंच गई। राज्य में शुक्रवार को 3,648 नए मरीज मिले और 1,146 मरीज ठीक हुए। राजस्थान में रिकार्ड संख्या में नए मरीज मिले। कोरोना की महामारी शुरू होने के बाद पहली बार राज्य में 3,970 नए मरीज मिले और सिर्फ 1,005 मरीज ठीक हुए। मध्य प्रदेश में शुक्रवार को 4,882 नए संक्रमित मिले।

दक्षिण के राज्यों में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को आंध्र प्रदेश में 2,765 नए केसेज आए, जबकि सिर्फ 1,245 लोग इलाज से ठीक हुए। कर्नाटक में शुक्रवार को 7,955 नए केस मिले, जबकि सिर्फ 3,220 लोग इलाज से ठीक हुए। तमिलनाडु में 5,441 नए मरीज मिले और सिर्फ 1,890 मरीज इलाज से ठीक हुए।

राज्यों में खत्म हो रही वैक्सीन

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देश में चल रहा दुनिया की सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान कई जगह ठहर गया है। कई राज्यों में अनेक केंद्रों पर वैक्सीन खत्म हो जाने की वजह से टीकाकरण रोकना पड़ा है। महाराष्ट्र के बाद राजस्थान ने भी कहा है कि उसके पास वैक्सीन खत्म हो रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान में अब सिर्फ दो दिन का कोटा बचा हुआ है। सभी राज्यों ने केंद्र से तत्काल वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग की है।

देश के सभी राज्यों का औसत देखें तो औसतन साढ़े पांच दिन के वैक्सीनेशन की डोज बची हुई है पर कई राज्यों में एक-दो दिन का ही स्टॉक बचा है। महाराष्ट्र और राजस्थान के पास दो दिन का स्टॉक है तो बिहार के पास सिर्फ डेढ़ दिन के वैक्सीनेशन का स्टॉक है। आंध्र प्रदेश में तो उससे भी कम डोज बचे हैं। तमिलनाडु के पास सबसे ज्यादा स्टॉक बचा हुआ है क्योंकि वहां वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत कम है।

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि राज्यों को वैक्सीन की आपूर्ति चार से आठ दिन के बीच में की जाती है। हर दिन राज्यों के अधिकारियों से बात कर तय किया जाता है कि किस राज्य में वैक्सीन भेजी जानी है। इस समय एक तरफ राज्यों में वैक्सीन की कमी है तो दूसी ओर अगले सप्ताह के लिए होने वाली आपूर्ति भी फिलहाल अटकी हुई है। गौरतलब है कि देश में इस समय हर दिन औसतन 36 लाख डोज लगाई जा रही है।

केंद्र सरकार के पास अभी दो करोड़ डोज का स्टॉक है और ढाई करोड़ वैक्सीन डोज पाइपलाइन में है। आंध्र प्रदेश के पास सबसे कम एक लाख 40 डोज बचे हैं, जबकि तमिलनाडु के पास 17 लाख वैक्सीन का डोज है। इसका एक बड़ा कारण यहां वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार भी है। वहां रोजाना करीब 37 हजार वैक्सीन लोगों को लगाई जा रही है। महाराष्ट्र में हर दिन 3.9 लाख वैक्सीन लगाई जा रही हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान के पास जल्दी ही वैक्सीन की खेप पहुंचा दी जाएगी।

वैक्सीन निर्यात रोके: राहुल

देश के कई राज्यों में वैक्सीन की कमी होने की खबरों के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वैक्सीन निर्यात पर सवाल उठाया है। उन्होंने पांच दिन तक टीका उत्सव मनाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर भी तंज किया है। राहुल गांधी ने कहा कि बढ़ते कोरोना संकट में वैक्सीन की कमी बड़ी समस्या है। ये उत्सव का समय नहीं है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात करते कहा था कि ज्योतिबा फुले की जयंती से लेकर बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती तक यानी 11 से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया जाए।

इस पर तंज करते हुए शुक्रवार को राहुल ने कहा कि यह समय उत्सव मनाने का नहीं है। राहुल गांधी ने ट्विट करके कहा- अपने देशवासियों को खतरे में डाल कर क्या वैक्सीन एक्सपोर्ट करना सही है? केंद्र सरकार को राज्यों से पक्षपात किए बिना उनकी मदद करनी चाहिए। गौरतलब है कि कई राज्यों में वैक्सीन की कमी हो गई है। कांग्रेस के शासन वाले राजस्थान सरकार ने भी कहा है कि उसकी वैक्सीन दो दिन में खत्म हो जाएगी।
-Hindi News Content By Googled

Sujeet Maurya

Sujeet Maurya

Send him your best wishes by leaving something on his wall.

Emergency Call

Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Sant Kabir Nagar 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097
Sujeet Maurya
Sujeet Maurya Khalilabad 7053788097