शाह की यात्रा से पहले टीएमसी की तैयारी-Hindi News

Hindi News – (image) अमित शाह की पश्चिम बंगाल की अगली यात्रा 12 जनवरी को होने वाली है। कहा जा रहा है कि उस दिन सरकार चला रही तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस-लेफ्ट के कुछ और नेता भाजपा में  शामिल होंगे। भाजपा के जानकार नेताओं का कहना है कि पहले तृणमूल को तोड़ने का काम अकेले […]

शाह की यात्रा से पहले टीएमसी की तैयारी-Hindi News

Hindi News –

(image) अमित शाह की पश्चिम बंगाल की अगली यात्रा 12 जनवरी को होने वाली है। कहा जा रहा है कि उस दिन सरकार चला रही तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस-लेफ्ट के कुछ और नेता भाजपा में  शामिल होंगे। भाजपा के जानकार नेताओं का कहना है कि पहले तृणमूल को तोड़ने का काम अकेले मुकुल रॉय या बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय कर रहे थे पर अब उनके पास सुवेंदु अधिकारी भी आ गए हैं, जो किसी जमाने में तृणमूल के नंबर दो नेता हो गए थे। उनका असर 50 से ज्यादा विधानसभा सीटों पर है। वे ममता के नंदीग्राम किसान आंदोलन का चेहरा थे। अब वे भी ममता के विधायकों और पार्टी के दूसरे नेताओं को तोड़ेंगे। तभी शाह की अगली यात्रा से पहले तृणमूल कांग्रेस ने भी अपना कुनबा बचाने की कवायद शुरू कर दी है।

बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी खुद भी सक्रिय हो गई हैं और उन्होंने पार्टी के पुराने नेताओं को जिम्मेदारी दी है कि वे नाराज विधायकों की पहचान करें, उनसे बात करें और उनको मनाने का प्रयास करें। जरूरी होने पर ममता खुद भी बात करेंगी। अपने लोगों को एकजुट रखने के लिए ममता ने एक बड़ी रैली करने का ऐलान किया है, जिसमें उन्होंने अनेक विपक्षी नेताओं को बुलाया है। इसी रणनीति के तहत उनके चुनाव प्रबंधक प्रशांत किशोर ने यह बयान दिया कि अगर भाजपा अगर दो अंक पार कर तीन अंक में चली जाए यानी उसे 99 से ज्यादा सीटें मिल जाएं तो वे चुनाव प्रबंधन का काम छोड़ देंगे। माना जा रहा है कि पार्टी के नेताओं और विधायकों को साथ रखने का फॉर्मूला यही है कि उनको भरोसा दिलाया जाए कि तृणमूल की सत्ता फिर आ रही है। ममता की पूरी टीम इसी काम में लग गई है।

var aax_size=”728×90″; var aax_pubname = “nayaindia-21″; var aax_src=”302”; -Hindi News Content By Googled